Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraब्रज की होली: 10 से 25 मार्च तक मनाया जाएगा रंगोत्सव

ब्रज की होली: 10 से 25 मार्च तक मनाया जाएगा रंगोत्सव

दर्पण व्यू
मथुरा। भगवान श्रीकृष्ण की जन्म और लीला भूमि में एक बार फिर होली के रंगों की धूम मचने जा रही है। इसके लिए शासन स्तर पर ब्रज में 10 से 25 मार्च तक होने वाले होली के आयोजन रंगोत्सव-2022 की तैयारियों की समीक्षा कर ली गई। खासकर बरसाना की लठामार होली को केंद्र बनाते हुए आवश्यक व्यवस्थाओं के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए हैं। इसमें सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन से होली के आयोजन की निगरानी भी की जानी है। प्रमुख सचिव पर्यटन की अध्यक्षता में पर्यटन निदेशालय लखनऊ में आयोजित बैठक में शामिल हुए उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ नगेंद्र प्रताप ने बताया कि मथुरा ब्रज क्षेत्रांतर्गत विभिन्न स्थानों पर रंगोत्सव-2022 का आयोजन 10 मार्च से 25 मार्च तक किया जायेगा। इसे भव्य एवं परंपरागत रूप से मनाए जाने के लिए सभी विभाग, मंदिर प्रबंधनों की ओर से तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। कुछ निविदाओं के लिए भारत निर्वाचन आयोग से अनुमति मांगी गई है। साथ ही रंगोत्सव के लिए एक करोड़ पांच लाख का बजट प्रस्तावित किया है।

बरसाना और नंदगांव पर विशेष फोकस
बरसाना और नंदगांव की होली की व्यवस्थाओं पर खास फोकस किया गया। इसमें जिला पंचायतराज अधिकारी को सफाई व्यवस्था के लिए कर्मचारियों की तैनाती के निर्देश दिए। अपर जिलाधिकारी वित्त योगानंद पांडेय ने बताया कि संपूर्ण मेला क्षेत्र में पुलिस का विशेष प्रबंधन किया जाएगा। मुख्य मार्गों पर बैरीकेडिंग और पार्किंग स्थलों पर भी पुलिस की तैनाती होगी। सीसीटीवी एवं ड्रोन के माध्यम से निगरानी रखी जायेगी। इसमें भीड़ नियंत्रित करने के लिए ट्रैफिक प्लान बनाने के निर्देश दिए। विभिन्न स्थानों पर इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुति की रूपरेखा भी प्रस्तुत की।

मेले के लिए 100 बसों का होगा संचालन

लठामार मेला के लिए उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम को 100 बसों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। जो विभिन्न मार्गों पर चलाई जाएंगी। बसों पर स्टीकर बनाकर लगाने के चालक परिचालकों को यूनीफॉर्म में नेम प्लेट सहित तैनात रहने के निर्देश दिए जाए।

यहां होगा त्योहार

=श्रीराधारानी मंदिर बरसाना
=श्रीनंदबाबा मंदिर नंदगांव
=श्रीराधारानी मंदिर, रावल
=श्रीबांके बिहारी मंदिर वृंदावन
=श्रीकृष्ण जन्मभूमि मथुरा
=नंदकिला नंदभवन, गोकुल
=श्रीद्वारिका मंदिरम, श्रीप्रहलाद मंदिर फालेन
=श्रीमुकुट मुखारबिंदु मंदिर, गोवर्धन

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments