बस अड्डे पर कुलियों से भी वसूली करते हैं ‘साहब’

0
110

= रोडवेज विभाग की साख को लगाया जा रहा है बट्टा
= अधिकांशत: चर्चा में रहते हैं रोडवेज के यह ‘साहब’
दर्पण व्यू संवाद
आगरा। आईएसबीटी पर तैनात साहब के हर रोज नए नए मामले सामने आते जा रहे हैं। उनकी करतूतों के बारे में हो रहे खुलासों में अब एक और मामला सामने आया है। किन्नरों और डग्गामार बसों के अलावा बस अड्डे पर स्थानीय कुलियों से भी वसूली करने का मामला सामने आया है। कुलियों को भी अपनी आमदनी का जरिया बनाया हुआ है। अवैध तरीके से धन कमाने का कोई रास्ता एक ‘साहब’ नहीं छोड़ते।
आईएसबीटी बस अड्डे पर तैनात साहब कई दिनों से चर्चाओ में है। एक वीडियो क्लीप वायरल हुई थी, जिसमें किन्नरों से वसूली का मामला सामने आया था। किन्नरों से हर रोज 32 सौ रुपये की चौथ लेने के बाद उन्हें इस बात की छूट दे दी जाती है कि वे बसों में यात्रियों से जमकर वसूली करें। ऐसे किन्नरों की संख्या 32 बताई जा रही है। यानि हर एक किन्नर को प्रतिदिन एक हजार रुपए ‘साहब’ तक पहुंचाने होते थे। अब नया खुलासा यह हुआ है कि आईएसबीटी पर लगभग दो दर्जन कुली भी यहां काम करने के लिए अवैध वसूली का शिकार हो रहे हैं। कुलियों से हर रोज शाम का खर्चा लिया जाता है। यात्रियों के सामान उठाने वाले कुलियों से शाम के खर्चे के अलावा उनसे जबरिया बेगार भी कराई जाती है। ऐसा नहीं है कि पीड़ित कुलियों ने कभी आवाज नहीं उठाई हो लेकिन उनकी आवाज को ऊपर तक पहुंचने ही नहीं दिया जाता है। बस अड्डे पर शुरू की गई स्टॉलों से गुटखा, सिगरेट और पान मसाले की बिक्री को प्रतिबन्धित किया गया है, लेकिन यहां सब कुछ ‘साहब’ की सरपरस्ती में सब कुछ मिलेगा। बस स्टेशन पर परिसर में यात्रियों के लिए बनाए गए शुलभ शौचालय में तय शुल्क से अधिक यात्रियों से वसूले जाते हैं लेकिन साहब के संरक्षण में सब कुछ बड़े आराम से चल रहा है। फिलहाल रोडवेज का अधिकारी जनपद के सभी बस डिपो में चर्चा का विषय बना हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here