Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraअस्पताल संचालक को डॉक्टर समझते थे लोग

अस्पताल संचालक को डॉक्टर समझते थे लोग

आगरा। आर मधुराज हॉस्पिटल में हुए अग्निकांड को लेकर हर कोई स्तब्ध है। अग्निकांड में अस्पताल के डायरेक्टर राजन, उनकी बेटी सिमरन उर्फ शालू और बेटे ऋषि की मौत हो गई थी। मृतक राजन सिंह को मरीज और तीमारदार डॉक्टर ही समझते थे। सभी राजन को डाक्टर कहकर संबोधित करते थे। यहां तक की अस्पताल के अंदर लगे बैनर पर संचालक का नाम डॉ. राजन सिंह और पद डायरेक्टर लिखा हुआ है। पिता गोपीचंद के मुताबिक राजन सिंह बीए उत्तीर्ण थे। वह कंपाउंडर रह चुके थे। जब से अस्पताल बना उसका संचालन देख रहे थे। स्वास्थ्य विभाग के रिकार्ड में अस्पताल डॉ. इशू शर्मा (फिजीशियन) के नाम से पंजीकृत है। डॉ. इशू शर्मा की डिग्री एमबीबीएस व एमडी हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि आग लगने की सूचना पर वह अस्पताल पहुंचे तो डॉ. इशू शर्मा मौके पर मिले। उन्होंने यह बात स्वीकार किया कि वह आर मधुराज हॉस्पिटल में ही प्रेक्टिस करते थे। अस्पताल के बाहर लगे बोर्ड पर अस्पताल में सेवाएं देने वाले तीन डॉक्टरों के नाम लिखे थे। इसमें डॉ. ईशू शर्मा के अलावा डॉ. अनूप शर्मा (एमबीबीएस, एमएस) व डॉ. मनोज वर्मा (एमबीबीएस, एमएस) का नाम लिखा था, जबकि अंदर बैनर पर पांच डॉक्टरों का नाम था। आर मधुराज हॉस्पिटल में जिन डॉक्टरों के पैनल का नाम दिया गया है, उसमें से कोई आईएमए का सदस्य नहीं है। इस संबंध में जानकारी कर ली गई है। यहां तक की डॉक्टरों के नाम सुने भी नहीं हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments