Thursday, June 13, 2024
HomeUttar PradeshAgraअब ताज के आस-पास का बाजार बंद करेंगे व्यापारी

अब ताज के आस-पास का बाजार बंद करेंगे व्यापारी

पांच सौ मीटर की परधि में आ रहे तीस हजार परिवार आंदोलन को तैयार
आज कैंडल मार्च निकालेंगे ताज के पांच सौ मीटर के दायरे वाले कारोबारी

आगरा। ताजमहल की 500 मीटर की परिधि में सुप्रीम कोर्ट द्वारा व्यावसायिक गतिविधियां बंद कराने के आदेश के बाद व्यापारी भी लामबंद होकर अपनी रोजी रोटी बचाने के लिए हर संभव प्रयासों में जुटे हुए हैं। न्यायालय में याचिका दाखिल करने के साथ ही व्यापारियों ने आंदोलन की रणनीति भी तैयार कर ली है। जल्दी ही बड़ा विरोध-प्रदर्शन हो सकता है।
बता दें की 26 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट द्वारा पश्चिमी गेट पार्किंग मार्केट एसोसिएशन व अन्य की याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान ताजमहल के 500 मीटर के क्षेत्र में व्यावसायिक गतिविधियों पर रोक लगाने के आदेश जारी किए थे। इसके बाद आदेश का अनुपालन कराने के लिए आगरा विकास प्राधिकरण सक्रिय हो गया। एडीए ने सर्वे और नोटिस की कार्रवाई शुरू कर दी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश से करीब 30 हजार परिवार प्रभावित हो रहे हैं। इन लोगों ने संघर्ष समिति का गठन कर सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष अपना पक्ष रखने के लिए याचिका दाखिल करने की घोषणा की थी। वे मांग कर रहे हैं कि कारोबार बंद करने के लिए तय की गई तारीख को 17 अक्टूबर से आगे बढ़ाया जाए। ताजगंज डेवलपमेंट फाउंडेशन के सदस्यों अब्राहिम जैदी, ताहीरउद्दीन ताहिर समेत कई व्यापारियों ने बताया कि न्यायिक प्रक्रिया के साथ-साथ आंदोलन सड़क पर आकर करने की भी रणनीति तैयार है। पहले चरण में प्रभावित होने वाले लोग जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों से मिलकर लगातार अपनी परेशानी उठा रहे हैं। आदेश में कोई तिथि नहीं दी गई है, इसके बाद भी एडीए 17 अक्टूबर तक कारोबार बंद करने का दबाव डाल रहा है। इसका विरोध किया जाएगा। इसी क्रम में आज रात्रि व्यापारी कैंडल मार्च निकालेंगे। कल राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन प्रशासन को दिया जाएगा। 12 अक्टूबर को अनिश्चित काल के लिए सभी दुकानें बंद करके व्यापारी मानव श्रृंखला बनाकर विरोध करेंगे। 13 अक्टूबर को ताजमहल की बाउंड्री वॉल के 500 मीटर की दूरी में काला दिवस मनाएंगे। हर घर और दुकान पर काला झंडा लगाया जाएगा और सभी काली पट्टी बांध कर निकलेंगे। 14 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लेकर कमिश्नर अमित गुप्ता से मिलकर अपना पक्ष रखेंगे। उनसे सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पूरी जानकारी कर मदद के किये कहा जायेगा। 16 अक्टूबर को इच्छा मृत्यु की अनुमति पाने के लिए राष्ट्रपति के नाम प्रार्थना पत्र डीएम को दिया जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments