Saturday, June 22, 2024
HomeUttar PradeshAgraताज के साए में विदेशी जोड़े ने रचाई शादी

ताज के साए में विदेशी जोड़े ने रचाई शादी

तीसवीं सालगिरह पर पुनर्विवाह, माता की प्रतिमा के सामने लिए सात फेरे
दशहरा घाट स्थित प्राचीन शिव मंदिर में विदेशी जोड़े ने दोबारा शादी की

आगरा। ताजमहल का दीदार करने के बाद अपने प्यार को अमर बनाने के लिए एक विदेशी जोड़े ने हिंदू रीति रिवाजों से सात फेरे लेकर पुनर्विवाह किया। ताजमहल के साए में दशहरा घाट मंदिर पर दोनों ने माता की प्रतिमा के समक्ष शादी की। ताजमहल की खूबसूरती और उसको बनाने वाले शाहजहां और उनकी बेगम मुमताज महल के बेपनाह इश्क की कहानी सुनने के बाद हर कपल भावुक हो जाता है। हिंदू धर्म में शादी को सात जन्मों का बंधन माना जाता है। भारत की संस्कृति को जानकर तमाम विदेशी हिंदू धर्म को मानने लगते हैं। ऐसा ही एक उदाहरण गुरुवार को ताजमहल पर दिखाई दिया। यूएस के रहने वाले गेराड़ सेमुअल अपनी पत्नी इंग्लैंड निवासी मिसेज कारोलाइन सैमुअल के साथ दिल्ली की ट्रेवल कंपनी से बुकिंग करके ताजमहल देखने आए थे। दोनों ने तीस साल पहले प्रेम विवाह किया था। ताजमहल आने के बाद जब उन्हें उनके गाइड भारत भूषण ने शाहजहां और मुमताज की प्रेम कहानी और हिंदू संस्कृति के बारे में बताया तो दोनो भावुक हो गए। इत्तफाक था की गुरुवार को उनकी शादी के तीस साल पूरे हुए थे। शादी की सालगिरह को यादगार बनाने और अपने प्यार को सात जन्मों तक दोबारा पाने के लिए उन्होंने हिंदु रीति से विवाह करने की इच्छा जताई। इसके बाद उन्होंने गाइड और ट्रेवल कंपनी के सौरभ की मदद से शादी का इंतजाम किया। दोनों ने दशहरा घाट पर ताजमहल के सामने एक दूसरे को वरमाला पहनाई और फिर वहीं मंदिर में माता की प्रतिमा के सामने सात वचन लेकर मांग में सिंदूर लगाया और प्रतिमा के सात फेरे लेकर दोबारा शादी की। शादी के बाद दोनों आगरा से रवाना हो गए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments