Sunday, June 23, 2024
HomeUncategorizedदिव्यांग पेंशनधारक पंचायत सचिव ने किया मृत घोषित

दिव्यांग पेंशनधारक पंचायत सचिव ने किया मृत घोषित

मनमानी करते हुए मासिक पेंशन ही बंद करवा दी
जिंदा साबित करने के लिए हरभान ने किया संघर्ष

आगरा। एक पंचायत सचिव ने दिव्यांग को कागजों में मृत दर्शा दिया। उसकी पैंशन ही बंद करवा दी गई। यह माना जा रहा है कि भ्रष्टाचार की वजह से यह मनमानी की गई। यह मामला उठने पर अधिकारियों की पड़ताल में मामला खुला। अधिकारी सत्यापन को गांव पहुंचे तो दिव्यांग का परिवार बुरी तरह से आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। जैतपुर ब्लाक के पई ग्राम पंचायत के किच्छरपुरा निवासी हरभान सिंह पुत्र सत्यभान सिंह दिव्यांग श्रेणी के कुष्ठावस्था के पेंशनधारक था। हरभान सिंह को पंचायत सचिव ने मृत दर्शा दिया। इस मामले में खुद को जिंदा साबित करने के लिए हरभान ने ब्लाक, तहसील व विकास भवन स्थित कार्यालय के तमाम चक्कर काटे। हर जगह जाकर कहा कि ‘मैं जिंदा हूं।’ यह मामला पिछले दिनों मीडिया में भी आया, इसके बाद अधिकारी सक्रिय हुए। एडीओ सहकारिता उमेश भारती गांव पहुंचे और पीड़ित व उसके माता पिता से भेंट की। परिवार की आर्थिक स्थिति देख वे भी अचरज में पड गए। उन्होंने पीड़ित परिवार के सदस्यों के बयान दर्ज किए व पेंशन संबंधी कागजात का अवलोकन किया। उल्लेखनीय है कि दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग से हरभान सिंह को तीन हजार रुपए की मासिक पेंशन मिलती थी, जो उसे मृत घोषित किए जाने के बाद रोक दी गई थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments