Sunday, June 23, 2024
HomeUttar PradeshAgraनिर्माण में घोटाला: सरकारी स्कूल की इमारत ढह गई

निर्माण में घोटाला: सरकारी स्कूल की इमारत ढह गई

13 साल पहले ही हुआ था इसका निर्माण, बड़ा हादसा टला
निर्माण प्रभारी को निलंबित किया गया, मामले की जांच शुरू

आगरा। एत्मादपुर क्षेत्र के रसूलपुर स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय की इमारत भरभरा कर गिर गई। गनीमत रही कि घटना के वक्त मौके पर कोई मौजूद नहीं था। अन्यथा बड़ा हादसा हो जाता। हादसे के समय बच्चे मैदान में मौजूद थे।
एत्मादपुर के रसूलपुर स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय की इमारत 13 साल पहले ही बनी थी। तीन महीने पहले ही इमारत को जर्जर घोषित कर बच्चों को दूसरे स्कूल में स्थानांतरित कर दिया था। लेकिन यहां मध्याह्न भोजन बनता था। बच्चे इमारत के बरामदे में खेलने के लिए भी पहुंच जाते थे। हादसे के वक्त बच्चे इमारत के सामने के मैदान में बैठकर भोजन कर रहे थे। गनीमत रही कि सभी बच्चे इमारत से दूर थे। बताया गया कि इमारत का निर्माण नौ लाख रुपये खर्च किए गए थे। वर्ष 2009 में यहां पांच कमरे, बरामदा समेत शौचालय बने थे। दो-तीन साल पहले से ही इसका प्लास्टर गिरने लगा था। दीवारें भी दरकने लगी थीं। शिक्षकों की शिकायत पर 29 अगस्त को इस स्कूल में पढ़ने वाले 65 बच्चों को सामने स्थित सरकारी स्कूल में स्थानांतरित कर दिया गया था। मंगलवार की दोपहर करीब 12:30 बजे इसके पांच कमरे और बरामदा भरभरा कर गिर गया। तेज आवाज और धूल से बच्चे घबरा गए और खाना छोड़कर भाग गए। जानकारी पर बीएसए और एसडीएम भी पहुंचे। बीएसए प्रवीन कुमार तिवारी के अनुसार निर्माण के दौरान प्रभारी रहे रमेश चंद्र जयंत को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। वह वर्तमान में एत्मादपुर के प्राथमिक विद्यालय बास शोभा में प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात हैं। इसके निर्माण की जांच कराई जा रही है। जांच के लिए स्कूल की इमारत से नमूने भी लिए जाएंगे।

50 स्कूलों के भवन जर्जर

आगरा। जिले में 50 से अधिक भवन जर्जर स्थिति में है। यहां कभी भी कोई हादसा हो सकता है। शिक्षक कई बार यह मामला उठा चुके हैं। लेकिन जर्जर स्कूलों की मरम्मत नहीं हो पा रही है। यूनाइटेड टीचर्स एसोसिएशन के राजेंद्र सिंह राठौर का कहना है कि गुड़ की मंडी, सौंठ की मंडी, जगदीशपुरा स्थित सरकारी स्कूलों समेत 50 से अधिक स्कूलों के भवन जर्जर हैं। इसमें भी कभी भी हादसा हो सकता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments