Sunday, June 23, 2024
HomeUttar PradeshAgraविधवा भाभी नीलू की भी जान लेना चाहता था निक्कू

विधवा भाभी नीलू की भी जान लेना चाहता था निक्कू

कास्मेटिक की दुकान चलाती थी मृतका पूनम
माता-पिता की मौत के बाद भाई ने तेवर बदले
मुस्लिम युवक से दोस्ती भी थी झगड़े की वजह

आगरा। सनसनीखेज पूनम हत्याकांड का आरोपी निक्कू अपनी विधवा भाभी नीलू की भी जान लेना चाहता था। उस पर भी उसने गोली चलाई थी। गोली नीलू की बाजू में लगी थी। उसने भागकर जान बचाई। पूरे परिवार में प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा था। इस वजह से परिवार दो गुटों में बंट गया था। पुलिस अभी तक हत्यारोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। हत्यारोपी निक्कू चौधरी आतंक का पर्याय रहे ओम प्रकाश उर्फ ओपी और लाला का भतीजा है। वह भाजपा नेता के हत्याकांड में जेल जा चुका है। शनिवार को सुबह हुई वारदात ने पूरे क्षेत्र में सनसनी फैला दी थी। भोगीपुरा (शाहगंज) में निक्कू चौधरी ने ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर अपनी सगी बहन पूनम की जान ले ली थी। उसने भाभी को भी मारने का प्रयास किया था। हत्याकांड के बाद वह मौके से फरार हो गया। पुलिस अभी तक उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी है।
हत्याकांड के पीछे प्रॉपर्टी का विवाद है। पूनम और उसकी विधवा भाभी प्रॉपर्टी में से अपना हिस्सा मांग रही थी। हत्यारोपी पूनम की एक मुस्लिम युवक से दोस्ती थी। इसको लेकर भी हत्यारोपी भाई निक्कू चौधरी से उसका हर रोज झगड़ा होता था। परिवार के सूत्रों का कहना है कि पिता यतेंद्र और मां की मृत्यु के बाद निक्कू के तेवर बदल गए थे। वह प्रॉपर्टी में से कोई हिस्सा पूनम या नीलू को नहीं देना चाहता था। दबंगई से उस दुकान का किराया भी वह ही वसूल रहा था, जो पिता यतेंद्र चौधरी ने पूनम के नाम कर दी थी। आरोपी निक्कू के बड़े भाई रूपेश की 2006 में हत्या के बाद उसकी पत्नी नीलू मायके में रह रही थी। जब तक निक्कू के पिता यतेंद्र चौधरी जीवित रहे, वे नीलू को खर्चा दिया करते थे। यतेंद्र की मृत्यु के बाद निक्कू ने नीलू का खर्चा बंद कर दिया था। वह मायके में रह रही थी। परिवार में एक गुट पूनम और विधवा भाभी नीलू का और दूसरा गुट बड़ी बहन दीपा और निक्कू चौधरी का बन गया था। क्षेत्रीय लोग बताते हैं कि चर्चित पवन चौहान हत्याकांड में निक्कू और उसके भाई रूपेश का नाम आया था। दबंग परिवार में हत्याओं का सिलसिला भी डेढ़ दशक पुराना है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments