Saturday, June 22, 2024
HomeUttar PradeshAgraकमिश्नरेट : अब झगड़े में भी जमानत नहीं, जाना होगा जेल

कमिश्नरेट : अब झगड़े में भी जमानत नहीं, जाना होगा जेल

आगरा। अब तक गाली-गलौज, मारपीट और जान से मारने की धमकी के मामले में पुलिस थाने ले जाकर शांतिभंग में कार्रवाई करती है। सात साल से कम की सजा होने के कारण अक्सर इन्हें जमानत मिल जाती थी। पर कमिश्नरेट व्यवस्था में अब ऐसा नहीं होगा। झगड़े में भी जेल जाना पड़ सकता है। आगरा में कमिश्नरेट प्रणाली लागू होने के बाद कानून व्यवस्था में बड़ा परिवर्तन हो जाएगा। मामूली झगड़ों में भी पुलिस भारी पड़ेगी। किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई, कहीं गाड़ी खड़ी करने को लेकर लात-घूंसे चल गए। किसी मामले में पति ने पीटा, सास और देवर से झगड़ा हुआ है। इस तरह के विवाद अक्सर होते रहते हैं। अब तक इनमें शांतिभंग की कार्रवाई होती थी। अब कमिश्नरेट में ऐसे झगड़े हों तो आपा न खोएं वरना जेल भेज दिए जाएंगे। कमिश्नरेट में पुलिस को मजिस्ट्रेटी शक्तियां मिल गई हैं। एसीपी की कोर्ट बनाई जाएंगी। इनमें शांतिभंग के मामलों में भी सुनवाई होगी। गालीगलौज, मारपीट और जान से मारने की धमकी के मामले में पुलिस थाने ले जाकर शांतिभंग में कार्रवाई करती है। कई बार मुकदमा दर्ज भी होता है। सात साल से कम की सजा होने के कारण अक्सर इन्हें जमानत मिल जाती थी। अब कमिश्नरेट व्यवस्था में अब इस धारा में जमानत देने और जेल भेजने का अधिकार एसीपी को होगा। मामले की गंभीरता के हिसाब से एसीपी निर्णय लेंगे। इसमें जेल भेजने की कार्रवाई भी हो सकती है। वहीं एक बार 151 की कार्रवाई होने के बाद आरोपियों को सीआरपीसी की धारा 107/116 में पाबंद भी किया जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments