Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraगठबंधन हुआ तो मुकाबला हो जाएगा और रोचक

गठबंधन हुआ तो मुकाबला हो जाएगा और रोचक

23 दिसम्बर को हो सकता है औपचारिक ऐलान
खतौली सीट पर मिली जीत ने बढ़ा दिए कयास

आगरा। भले ही निकाय चुनाव की तारीखें तय नहीं की गर्इं हैं, लेकिन पूरे शहरों से लेकर नगर पंचायत क्षेत्रों में चर्चाओं का बाजार बेहद गर्म है। वहीं इस निकाय चुनाव को लेकर विपक्षी दलों द्वारा भाजपा को घेरने के लिए नए तरह से रणनीति बनाई जा रही है। प्रदेश में सम्पन्न हुए उप चुनाव में तीन में दो सीटें सपा रालोद और आजाद समाज पार्टी के गठबंधन के खाते में आने से अब सबकी निगाहें निकाय चुनाव पर टिक गई हैं। सब कुछ ठीक रहा तो आने वाले दिनों में एक मंच से गठबंधन होने की घोषणा होने की उम्मीद को और प्रबल कर दिया है।

निकाय चुनाव को लेकर जल्द ही गठबंधन होने के कयास लगाए जा रहे हैं। गठबंधन के कयासों को खतौली में हुए उपचुनाव की बम्पर जीत ने और हवा दे दी है। सूत्रों की मानें मानें तो सब कुछ ठीक रहा तो आने वाले दस दिन बेहद अहम माने जा रहे हैं। फिलहाल सभी की निगाहें हाईकोर्ट द्वारा दी गई 20 तारीख पर टिकी हुई हैं। आगामी 23 दिसम्बर को देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह की जयन्ती के अवसर पर इसकी घोषणा होने की संभावना जताई जा रही है। इधर राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया और राज्यसभा सांसद जयंत चौधरी ने अपने दादा पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह की जयन्ती पर राजस्थान के भरतपुर में विशाल रैली कराने की बात कही है। इस विशाल रैली में देशभर के कई बड़े नेताओं को आमंत्रित किया गया है। मंच पर आजाद समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र शेखर आजाद और सपा के शीर्ष नेतागण भी दिखाई देंगे। यहां गठबंधन की घोषणा की जा सकती हैं। इधर सियासी जानकारों की मानें तो मैनपुरी में रिकोर्ड तोड़ वोट मिलने से भाजपा के दिग्गजों के माथे पर चिंता की लकीरें खिच गई है।

मैनपुरी और खतौली चुनाव से पूर्व से गठबंधन किया गया था। तीनों दलों को इससे फायदा मिला है। आगे भी गठबंधन जारी रहने की उम्मीद है। अंतिम निर्णय शीर्ष नेतृत्व का मान्य होगा।

चौ.वाजिद निसार, महानगर अध्यक्ष, समाजवादी पार्टी

खतौली में जातीय समीकरण को देखते हुए मदन भैया को चुनाव लड़ाया गया और उन्होंने भाजपा प्रत्याशी को हराकर जीत दर्ज की है। गठबंधन के परिणाम सुखद साबित हुए हैं, निकाय चुनाव में भी इस पर मुहर लग सकती है।

कप्तान सिंह चाहर, प्रदेश प्रवक्ता, रालोद

खतौली और मैनपुरी दोनों स्थानों पर बड़ी संख्या में दलित वोट बैंक का रुख गठबंधन की ओर रहा है, आगे भी इसके सफल परिणाम साबित हो सकते हैं। अंतिम निर्णय राष्ट्रीय अध्यक्ष लेंगे।
अनिल कर्दम, जिलाध्यक्ष, आजाद समाज पार्टी

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments