Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraपालतू तोते की लड़ाई थाने तक पहुंच गई

पालतू तोते की लड़ाई थाने तक पहुंच गई

तोते ने ही ‘मम्मी-पापा’ बोल विवाद खत्म कराया
दो पक्ष पक्षी पर जता रहे थे अपना-अपना हक

आगरा। एक तोते ने दो पक्षों के बीच विवाद करवा दिया। विवाद इतना बढ़ा कि मामला थाने तक पहुंच गया। 3 घंटे तक थाने में बहस चलती रही। मजेदार बात यह है कि तोते ने विवाद का निपटारा करवा दिया। अपने असली मालिक को उसने ‘मम्मी-पापा’ बोल दिया। मामला कमलानगर थाना क्षेत्र का है। बल्केश्वर निवासी एक परिवार पिछले तीन साल से एक विदेशी तोते को पाल रहा है। उससे परिवार के लोगों का गहरा लगाव हो गया। इसी बीच शनिवार को वो व्यक्ति घर पर आया, जिससे उन्होंने इस तोते को लिया था। व्यक्ति ने तोते को वापस करने की मांग की, तो दूसरे पक्ष ने मना कर दी। दरअसल, ये तोता लेते वक्त उन्होंने कोई कीमत अदा नहीं की थी। उस शख्स ने तोता उन्हें पालने के लिए वैसे ही दे दिया था। तोता मांगने पर धीरे-धीरे दोनों तरफ से कहासुनी होने लगी। सूचना पर थाना कमलानगर पुलिस मौके पर पहुंच गई और विदेशी तोते के साथ दोनों पक्षों को थाने ले आई। कई घंटे तक पुलिस भी यह फैसला नहीं कर पाई कि आखिर तोते पर असली मालिकाना हक किसका बनता है, पालने वाले का या देने वाले का। थाने में चल रहे विदेशी तोते के विवाद की कहानी पुलिस के उच्चाधिकारी तक पहुंच गई। उन्होंने थानाध्यक्ष विपिन कुमार गौतम को एक आइडिया दिया और उसके हिसाब से तोते के असली मालिक की पहचान करने की बात कही। उन्होंने कहा कि तोते का जिस पार्टी लगाव हो, तोता उसी को दे दिया जाए। इसके बाद तोते को पिंजड़े से निकालकर टेबिल पर छोड़ा गया। दोनों पक्ष टेबिल के सामने खड़े रहे। तोते के पिंजड़े से बाहर आते ही दोनों पक्षों धड़कन बढ़ने लगीं और तोता आगे की ओर कदम रखते हुए उस पक्ष की ओर चला गया जो उसे 3 साल से पाल रहे थे। तोता अपनी भाषा में उन्हें बार-बार मम्मी-पापा बोलने लगा। इसके बाद पुलिस ने तोते को पालने पक्ष के सुपुर्द कर दिया। पुलिस पूछताछ में तोता देने वाले व्यक्ति ने बताया कि उससे किसी ने कहा था कि उस विदेशी तोते को हमें दे दीजिए। हम उसके 60 हजार रुपए दे देंगे। इससे उसके मन में लालच आ गया था और वह तोता वापस मांगने आया था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments