Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraबिक्रीकर सर्वे से परेशान व्यापारी एकजुट हुए थे 50 साल पहले

बिक्रीकर सर्वे से परेशान व्यापारी एकजुट हुए थे 50 साल पहले

बनारस में व्यापारियों की पहली बैठक में धर्मपाल हुए थे शामिल
व्यापार मंडल कल दीपोत्सव के साथ मना रहा है स्थापना दिवस

आगरा। यह वह दौर था, जबकि बिक्रीकर अधिकारियों का बाजारों में बेतहाशा खौफ था। उनके आने की सूचना मात्र से ही बाजारों में दुकानों के शटर गिर जाते थे। पूरे बाजार में सन्नाटा छा जाता था। व्यापारियों की हालत चोरों जैसी और बिक्रीकर अधिकारियों की स्थिति पुलिस जैसी हो गई थी। इस स्थिति से निजात पाने के लिए 50 साल पहले व्यापारी बनारस में एकजुट हुए थे। तब हुई थी व्यापार मंडल की स्थापना। आगरा से समाजसेवी धर्मपाल विद्यार्थी ने इसमें प्रतिभाग किया था। वर्ष 1964 में व्यापारी नेता श्याम बिहारी मिश्रा के मन में व्यापारियों को एकजुट करने का ख्याल आया था। उन्होने सोचा कि व्यापारी समाज सुधारक है, करदाता है, फिर भी उसकी यह दशा है कि वह बिक्रीकर के एक चपरासी को देखकर भय से अपनी दुकान बंद कर दे रहा है। इसी सोच से उन्हें व्यापारी संगठन बनाने की प्रेरणा मिली और उन्होंने व्यापारियों को एकजुट करने की मुहिम शुरू की। वर्ष 1973 में लाला विशम्भर दयाल अग्रवाल (लखनऊ) की अध्यक्षता में और पं. श्याम बिहारी मिश्रा (कानपुर) के विशेष प्रयासों से बनारस में प्रदेश के प्रमुख व्यापारियों की बैठक हुई। व्यापारी समाज के खोए हुए सम्मान को वापस दिलाने के लिए और छोटे-बड़े व्यापारियों दुकानदारों और उद्यमियों को बिना किसी भेदभाव के एक मंच पर संगठित होने का फैसला किया था। उस समय बिक्रीकर के सर्वे के बहिष्कार का नारा दिया गया था। बाजारों में व्यापारियों ने एजजुटता दिखानी शुरू कर दी। 26 मई 1979 को इसी संघर्ष ने लखनऊ की अमिनाबाद में माता बदल पंसारी के यहां बिक्रीकर अधिकारियों से संघर्ष हुआ और पुलिस ने गोली चला दी। 24 वर्षिय युवा व्यापारी हरीश चन्द्र अग्रवाल शहीद हो गये थे। इसके बाद व्यापारी और मुखर हुए और विभिन्न स्थानों पर हुए संघर्ष में कई व्यापारी शहीद हो गए। आंदोलन के परिणामस्वरूप 29 मई 1979 यूपी के मुख्यमंत्री बनारसी दास ने बिक्रीकर के सर्वे पर पूर्ण प्रतिबंद लगा दिया जो आज भी कायम है। बाद में हर राजनैतिक दल ने व्यापार मण्डल की महत्व और ताकत को समझा। सरकार ने व्यापारी कल्याण बोर्ड की स्थापना की और सरकार और समाज ने समय-समय पर व्यापारियों को सम्मान देने का भी कार्य किया। उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल की स्थापना के 50 वर्ष पूरे हो रहे हैं। कल व्यापारी जश्न मनाने के लिए जुटेंगे। मीडिया प्रभारी मेघराज दियालानी के अनुसार गणपति आर्केड, हॉस्पिटल रोड पर सायंकाल छह बजे दीपोत्सव का आयोजन किया गया है। संगठन के जिलाध्यक्ष गिरीराज किशोर अग्रवाल, प्रदेश मंत्री राजकुमार गुरनानी, जिला महामंत्री दीपक शर्मा, पीसी मित्तल, डीसी मित्तल, किशोर बुधरानी, सुरेश अग्रवाल, सुनील जैन, अनुराग गोयल, रोहित आयलानी, रोहित आयलानी आदि ने सभी व्यापारियों का एकजुटता के लिए आभार व्यक्त करते हुए उन्हें स्थापना दिवस की शुभकामनाएं दी हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments