Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraसपा सरकार में व्यापारियों से होती थी वसूली- सक्सेना

सपा सरकार में व्यापारियों से होती थी वसूली- सक्सेना

अब यूपी में व्यापारियों को मिलता है भरपूर सम्मान
ग्लोबल इंवेस्टर समिट के लिए यूपी पूरी तरह से तैयार

आगरा। राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार अरुण सक्सेना ने कहा है कि मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को दुरुस्त कर दिया है। उप्र में अब उद्यमियों को भरपूर सम्मान मिल रहा है। यूपी ग्लोबल इंवेस्टर समिट के लिए पूरी तरह से तैयार है। वन एवं पर्यावरण जन्तु उद्यान एवं जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार अरुण सक्सेना ने कहा कि सूक्ष्म एवं लघु उद्यमी उप्र में अर्थ व्यवस्था की रीढ़ हैं। प्रदेश अब बीमारू नहीं रह गया, बल्कि उत्तम से सर्वोत्तम बनने की ओर बढ़ रहा है। सपा सरकार में व्यापारी, उद्यमियों से गुंड़े रंगदारी वसूली करते थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था को दुरुस्त किया है, तो प्रदेश को प्रगति की ओर अग्रसर किया है। उद्यमियों, व्यापारियों को सहयोग और सम्मान मिल रहा है। वाटर वर्क्स स्थित अग्रवन में लघु उद्योग भारती के क्षेत्रीय सम्मेलन में राज्यमंत्री अरुण सक्सेना ने व्यापारियों से सीधा संवाद किया। उन्होंने कहा कि आप मानते हैं कि उप्र में कानून व्यवस्था में सुधार हुआ है, बिजली अधिक मिल रही है, जिस पर सभी ने हाथ उठा सहमित जताई। उन्होंने कहा कि कुछ कठिनाइयां बची हैं, जिन्हें दूर किया जा रहा है। एक जिला एक उत्पाद के माध्यम से क्षेत्रीय उत्पादों को प्रतिस्पर्धा में लाया जा रहा है, तो उनको वैश्विक पटल भी दिलाया जा रहा है। जिले के एक से अधिक उत्पादों को भी साथ जोड़ने का प्रयास हो रहा है। ग्लोबल इंवेस्टर समिट के लिए प्रदेश तैयार है। सात लाख करोड़ के अनुबंध कई देशों से हुए हैं, जबकि हर जिला आगे बढ़ प्रतिभाग कर रहा है। लकड़ी के उद्योग विकसित करने में अब कोई अड़चन नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने रोक हटा दी है। प्लाई सहित अन्य उद्यम विकसित किए जा सकते हैं। उन्होंने उद्यमियों द्वारा दिए गए सुझाव, प्रस्तावों को गंभीरता से लिया और आवश्वस्त भी किया।
उद्यमियों ने उनके समक्ष भूमि की उपलब्धता की समस्या को उठाया, जिस पर राज्यमंत्री ने कहा कि सभी एक्सप्रेस वे के किनारे की जमीन उपलब्ध है। इनमें उद्यम विकसित कराए जाएंगे। इसके साथ ही जिस ग्राम सभा में पांच एकड़ से ज्यादा भूमि एक साथ उपलब्ध है, उनसे भी जानकारी मांगी गई है। इन पर भी उद्यम विकसित कराए जाएंगे और क्षेत्रीय लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments