Saturday, June 22, 2024
HomeUttar PradeshAgraगायत्री बिल्डर की और सम्पत्तियों की तलाश

गायत्री बिल्डर की और सम्पत्तियों की तलाश

कुर्क हुए तीन खातों में मिले सिर्फ 18.78 लाख रुपए
बकाया राशि की वसूली के लिए संपत्तियां होंगी नीलाम

आगरा। फ्लैट बुकिंग के नाम पर धोखाधड़ी के आरोपी गायत्री डेवलपवेल प्राइवेट लिमिटेड के मालिक हरिओम दीक्षित पर प्रशासन ने शिकंजा और कस दिया है। उसकी संपत्तियों का पता लगाया जा रहा है। संपत्तियों को नीलाम किया जाएगा।
आगरा, नोएडा और दिल्ली में बिल्डर के 11 बैंक खाते कुर्क किए गए हैं। इनमें आठ खातों में पैसा नहीं निकला, जबकि तीन खातों से प्रशासन ने 18.78 लाख रुपये वसूल किए हैं। भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण (रेरा) ने अप्रैल 2021 में बिल्डर से 69.16 लाख रुपये की वसूली के आदेश डीएम को दिए थे। बकायेदारी नहीं चुकाने और वसूली में लापरवाही का आरोप लगाते हुए पीड़ित मोहित और विकास ने उच्च न्यायालय में प्रशासन के खिलाफ अवमानना याचिका दायर की है। इसके बाद एसडीएम सदर परीक्षित खटाना ने बिल्डर के 11 बैंक खाते कुर्क किए हैं। प्रशासनिक टीम 27 दिसंबर को नोएडा गई। जहां आईसीआईसीआई बैंक के तीन खातों में 18.78 लाख रुपये मिले। जिन्हें तत्काल प्रशासन ने निकलवा लिए। बिल्डर हरिओम दीक्षित पर रेरा का 69.16 लाख रुपये बकाया है। नायब तहसीलदार रविश कुमार के अनुसार बिल्डर की संपत्तियों की तलाश हो रही है। बकाया राशि के लिए संपत्तियां कुर्क व नीलाम की जाएंगी।
मलपुरा के मूल निवासी हरिओम दीक्षित व अन्य के विरुद्ध 12 मुकदमे दर्ज हैं। 25 से अधिक लोगों ने फ्लैट बुकिंग के नाम पर 10 करोड़ रुपये से अधिक हड़पने व धोखाधड़ी के आरोप लगाए थे। अक्तूबर 2020 में पुलिस ने गायत्री डेवलपवेल के मालिक हरिओम दीक्षित और उनकी पत्नी कल्याणी दीक्षित को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। बैंक से ऋण लेने के बाद रकम नहीं चुकाने पर 2020 में केनरा बैंक व प्रशासन ने शास्त्रीपुरम स्थित हरिओम दीक्षित के मनहर गार्डन में 27 फ्लैट का अधिग्रहण किया था। 3.68 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की गई। बकाया वसूली के लिए प्रशासन अब बिल्डर की आगरा व अन्य जिलों में संपत्तियां तलाश रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments