Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraबैंड कंपनी को देने होंगे दूल्हे को सवा लाख

बैंड कंपनी को देने होंगे दूल्हे को सवा लाख

विदेशी फूलों से सजी बग्गी की जगह भेज दी ‘भद्दी’ बग्गी
बैंड बजाने आए कर्मचारी भी तय की गई ड्रेस में नहीं आए
ढाई वर्ष संघर्ष के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर को मिला न्याय

आगरा। किसी भी युवा के जीवन में सबसे सुखद पहल होते हैं उसके विवाह समारोह के। हसरतों को पूरा करने के लिए क्या कुछ नहीं करते। लेकिन एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के इन हसीन पलों को बैंड कंपनी ने खराब कर दिया। रिश्तेदारों और परिचितों के बीच भी बैंड ने किरकिरी करवा दी। उपभोक्ता आयोग ने बैंड कंपनी को सवा लाख रुपए करने के निर्देश दिए हैं। आवास विकास कालोनी निवासी न्याय विभाग से सेवानिवृत्त गौरी शंकर के पुत्र अनुपम साफ्टवेयर इंजीनियर हैं। नोएडा में एक कंपनी में कार्यरत हैं। अनुपम की 14 नवंबर को 2021 को दिल्ली में शादी थी। उन्होंने पांच सितंबर 2021 को दिल्ली के चावला बैंड 1.24 लाख रुपये में बुक किया था। उसे 50 हजार रुपये पेशगी में दिए। बैंड ने बताया कि बग्गी इंटरनेशनल रंगों के साथ प्राकृतिक फूलों से सुसज्जित होगी। बैंड कर्मी का ड्रेस कोड भी इंग्लिश कलर होगा। बग्घी के फोटो दिखाए जो बहुत शानदार थे। लेकिन जब शादी वाले दिन बग्गी और बैंडकर्मी आए तो सबका मजा किरकिरा हो गया। बग्गी बहुत ही बेकार थी और कोई फूल नहीं थे। बैंडकर्मियों की ड्रेस भी बहुत खराब थी। इसे देखकर सभी का मूड खराब हो गया था। दूल्हा अनमने मन से बग्गी पर बैठा।
अनुपम के पिता गौरीशंकर ने उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग द्वितीय में परिवाद दायर कर दिया। इसमें कहा गया था कि बैंड वालों ने अनुपम के जीवन के सबसे खास क्षण का मजा किरकिरा कर दिया। करीब ढाई वर्ष बाद आयोग का फैसला आया। इसमें दिल्ली के चावला बैंड को सवा लाख रुपए पीड़ित पक्ष को देने के आदेश हुए हैं। आयोग के अध्यक्ष आशुतोष, सदस्यों राजीव सिंह और पारूल कौशिक ने ने यह फैसला सुनाया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments