Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraसांड के हमले से किसान के पैर की टूटी हड्डी, डीएम को...

सांड के हमले से किसान के पैर की टूटी हड्डी, डीएम को भिजवाया क्षतिपूर्ति का नोटिस

आवारा पशुओं के हमले से घायल हुए एक किसान ने जिलाधिकारी को नोटिस भिजवाकर क्षतिपूर्ति की मांग की है। खेत पर जाते हुए उस पर सांड ने हमला कर दिया था। जिससे उसके पैर की हड्डी टूट गई।

सुनील साकेत
आगरा। छुट्टा पशुओं के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कड़े निर्देश जारी किए थे। उन्होंने कहा था कि एक अप्रैल से सड़क या खेत में आवारा पशु दिखाई नहीं दे। इन्हें सुरक्षित गौशालाओं में रखवाया जाए। इस आदेश को एक महीना भी नहीं बीता कि आवारा पशु के हमले से एक विकलांक किसान की पैर की हड्डी टूट गई। ऑपरेशन और इलाज में उसका एक लाख रुपया खर्च हो गया। किसान ने अधिवक्ता के माध्यम से डीएम समेत कई अधिकारियों को नोटिस जारी किया है।

विकास खंड अछनेरा के लोहकरेरा गांव के रहने वाले राजकुमार एक पैर से विकलांग है। राजकुमार के भाई रोहन सिंह ने बताया कि १५ अप्रैल को वह अपने खेत पर जा रहा था कि तभी खेतों में से निकले आवारा पशुओं के झुंड ने उस पर हमला कर दिया। जिससे उसके उसी पैर की हड्डी टूट गई जिस पैर से वह पहले से ही विकलांग था। २१ अप्रैल को राजकुमार के पैर का ऑपरेशन हुआ। ५ दिन उसे अस्पताल में रहना पड़ा। इसमें उसका एक लाख रुपये का खर्चा हो गया। इसके बाद उसने २६ मई को अधिवक्ता के माध्यम से जिलाधिकारी आगरा नवनीत सिंह चहल को नोटिस जारी कर क्षतिपूर्ति की मांग की है। अधिवक्ता ने एसडीएम, पंचायत राज अधिकारी, ग्राम प्रधान, सचिव समते अन्य को भी पार्टी बनाया है।

क्या कहता है नियम
अधिवक्ता रोहन सिंह का कहना है कि पंचायत राज अधिनियम की धारा १५३० (घ) में आवारा और छुट्टा पशुओं के निवारण का उल्लेख है। इन्हें गौशाला या सुरक्षित स्थान पर रखने का प्रावधान है। वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेश चंद सौनी का कहना है कि प्रत्येक व्यक्ति की सुरक्षा की जिम्मेदारी शासन की होती है। अगर कोई आवारा पशु के हमले से घायल होता है तो वह मुआवजा पाने का हकदार होता है।

हाईवे पर भी होते हैं हमले
आवारा और छुट्टा पशुओं के झुंड सड़कों और खेतों में दिखाई देता है। इसे लेकर विपक्षी दलों के नेताओं ने सरकार को घेरा था। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़े निर्देश जारी किए थे। विधानसभा में भी यह मामला काफी गर्माया था। राजकुमार का कहना है कि उसके दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। उसका पैर जांघ से खराब हो चुका है। उसे क्षतिपूर्ति दिलवाई जाए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments