Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraअंजलि हत्याकांड : कई अनुत्तरित सवाल कायम

अंजलि हत्याकांड : कई अनुत्तरित सवाल कायम

दोपहर में मंदिर में क्यों और किसके कहने पहुंची थी कारोबारी की पत्नी
पति स्कूटी से संजय प्लेस से यहां सिकंदरा तक पत्नी से मिलने क्यों आया
वह ककरेठा के पीछे वनखंडी मंदिर में क्यों पत्नी को अकेला छोड़ गया
नाबालिग पुत्री और उसके मित्र को लेकर भी उलझे हुए हैं कई रहस्य

आगरा। सिकंदरा में सनसनीखेज हत्याकांड में पुलिस को कई अनुत्तरित सवालों का जवाब खोजना होगा? कुछ तो ऐसा है, जो अभी तक जांच में सामने नहीं आया है। परिवार के अंदर कुछ ऐसा चल रहा था, जिसे अभी तक सामने नहीं लाया गया। बता दें कि शास्त्रीपुरम के ए ब्लॉक स्थित भावना एरोमा निवासी कारोबारी उदित बजाज की पत्नी अंजलि (40) की बुधवार को हत्या कर दी गई। बृहस्पतिवार को गांव ककरैठा में वनखंडी महादेव मंदिर के पास जंगल में उनका शव मिला। उनको गर्दन और पेट में चाकू मारे गए थे। पुलिस का कहना है कि हत्या मृतका की बेटी के दोस्त ने अपने साथी के साथ मिलकर की है। यह दोस्त 20 साल का बताया गया है। कहा जा रहा है कि अंजलि ने अपनी बेटी पर अंकुश लगा दिया था। इस कारण वह अपने दोस्त से मिलने नहीं आ पाती थी। इसी वजह से अंजलि को रास्ते से हटाया गया।
उदित बजाज का जूते के धागे बनाने का काम है। संजय प्लेस में दुकान है। उन्होंने बुधवार रात नौ बजे थाना सिकंदरा पहुंचकर पुलिस को पत्नी अंजलि बजाज के लापता होने की जानकारी दी थी। बताया कि बुधवार अपराह्न तीन बजे पत्नी अंजलि घर से कार में निकली थी। उन्हें फोन करके महर्षिपुरम मोड़ पर बुलाया। उन्हें यमुना के तट पर स्थित वनखंडी महादेव मंदिर में दर्शन के लिए जाना था। वह स्कूटी से महर्षिपुरम मोड़ पर पहुंचे। स्कूटी को खड़ा करने के बाद पत्नी के साथ कार में बैठ गए। इस दौरान बेटी घर से पार्क में गई थी। उसे लेने जाना था, इसलिए वो पत्नी को मंदिर के पास छोड़कर वापस चल दिए। इसी बीच बेटी ने फोन करके घर पहुंचने की जानकारी दी। इस पर वो पत्नी को लेने वापस पहुंचे, लेकिन वह नहीं मिलीं। उन्हें लगा कि वह अकेले घर चली गईं। वह घर आए तो यहां भी नहीं थीं। इस पर तलाश की, उनका कहीं पता नहीं चला। मोबाइल भी नहीं लग रहा था। सूचना पर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर तलाश शुरू कर दी। मगर, रात में कहीं पता नहीं चला। बृहस्पतिवार को पुलिस ने मंदिर के पास ही जंगल से शव बरामद कर लिया।
सिकंदरा के थाना प्रभारी निरीक्षक आनंद कुमार शाही ने बताया कि व्यापारी की नाबालिग बेटी की मित्रता दयालबाग निवासी प्रखर गुप्ता से है। वह 20 साल का है, 12वीं पास है। हत्याकांड में प्रखर और उसके साथी का हाथ हो सकता है।
हत्याकांड से जुड़े कई सवाल हैं। दोपहर में मंदिर में क्यों और किसके कहने पहुंची थी अंजलि। पति स्कूटी से संजय प्लेस से यहां सिकंदरा तक पत्नी से मिलने क्यों आए। वह ककरेठा के पीछे वनखंडी मंदिर में क्यों पत्नी को अकेला छोड़ कर चले गए। बेटी पार्क में जाने की कहकर गई थी, फिर वह घर कैसे पहुंच गई? नाबालिग पुत्री और उसके मित्र को लेकर भी कई रहस्य उलझे हुए हैं। अंजलि का मोबाइल फोन भी नहीं मिला है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments