Saturday, June 22, 2024
HomeUttar PradeshAgraअनशन पर बैठे किसानों की शारीरिक गिरावट, ४ से ५ किलो...

अनशन पर बैठे किसानों की शारीरिक गिरावट, ४ से ५ किलो तक कम हो रहा है वजन

किसान नेता श्याम सिंह चाहर, रघुनाथ शर्मा, श्रीभगवान ङ्क्षसह, वेटों पंडित जी समेत छह लोग पिछले १६ दिन से अनशन पर बैठे हैं। अनशनकारियों का कहना है कि जमीन वापसी की मांग १४ साल से कर रहे हैं। हर बार आश्वासन मिलता है। अधिकारियों ने अधिग्रहण में करोड़ों का गबन किया है। इसलिए ना तो मुआवजा दे रहे हैं और ना ही जमीन ।

आगरा। जमीन वापसी की मांग को लेकर अनशन पर बैठे किसानों की स्वास्थ्य गड़बड़ा रहा है। जिसके चलते दो किसानों को सोमवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन शाम तक अस्पताल छोड़कर वे धरना स्थल पर लौट आए। चिकित्सकों के स्वास्थ्य परीक्षण में दो अनशनकारियों का ४ से ५ किलो वजन कम हुआ है। इधर अफसरों का कहना है कि उनके हाथ में कुछ नहीं है। शासन से मार्गदर्शन मिलने के बाद ही कुछ हल निकल सकता है।

ताजनगरी फेस थ्री के लिए अधिग्रहित हुई ४२ हेक्टेअर भूमि की वापसी के लिए ५ जून से ६ किसान अनशन पर बैठे हैं। ये सभी ५५ से ६५ वर्ष की उम्र के लोग हैं। आगरा विकास प्राधिकरण ने जमीन का अधिग्रहण किया था, लेकिन फेल हो जाने के बाद किसान अपनी जमीन को वापस मांग रहे हैं। यही वजह है कि वे पिछले १४ साल में दर्जनों पर विरोध प्रदर्शन और छठवीं बार अनशन कर रहे हैं।

लोकसभा चुनाव में देंगे जवाब
किसान नेता श्याम सिंह चाहर का कहना है कि उनके समर्थन में समाजवादी पार्टी के नेतागण आ चुके हैं, लेकिन सत्ता पक्ष का कोई नेता उनके अनशन स्थल पर नहीं पहुंचा है। उनका कहना है कि आगामी लोकसभा चुनाव में जब वे उनके गांव में वोट मांगने के लिए आएंगे तो उन्हें इसका जवाब दिया जाएगा। वे २४ जून को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने अपना विरोध प्रदर्शित करेंगे। श्याम सिंह चाहर का कहना है मंगलवार को अनशन पर बैठे किसान अपना मुंडन करवाकर विरोध जताएंगे।

क्या बोले जिम्मेदार
भूमि अध्यापति अधिकारी आनंद सिंह का कहना है कि ताजनगरी फेस थ्री योजना के तहत अधिग्रहित भूमि पर सड़क बनाए जाने की योजना थी। लेकिन एलाइंमेंट चेंज होने के कारण किसान अपनी जमीन वापस मांग रहे हैं। इस संबंध में प्रस्ताव बनाकर शानन को भेजा जा चुका है। मगर आज तक अधिग्रहित भूमि को किसानों को वापस नहीं किया गया है। फिर भी वे शासन के मार्गदर्शन का इंतजार कर रहे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments