Saturday, June 22, 2024
HomeUttar PradeshAgraबारिश से न्यू दक्षिणी बाईपास कई जगह धंसा

बारिश से न्यू दक्षिणी बाईपास कई जगह धंसा

दिल्ली-ग्वालियर रूट पर गुजरने वाले वाहनों को खतरा
450 करोड़ रुपए की लागत से बनाया गया था यह मार्ग
दोनों ओर की सड़क पहली बारिश भी नहीं झेल सकी

आगरा। न्यू दक्षिणी बाईपास चंद समय में ही जर्जर हो गया। मौसम की पहली बारिश से मार्ग जगह-जगह धंस गया। 450 करोड़ की लागत से बनाए गए इस मार्ग की गुणवत्ता को लेकर सवाल उठ रहे हैं। मार्ग पर दोनों ओर की सड़कों का बुरा हाल है। दिल्ली हाई-वे को ग्वालियर हाई-वे से मिलाने वाले इस मार्ग में गांव रैपुरा से बाद दर्जन भर से अधिक गड्ढे हो गए हैं। नगला कुठावली भांडई पुल के समीप बाईपास किनारे करीब 10 फुट चौड़ी और 50 फुट से अधिक गहरी ढाय गिर गई है। यह सड़क की स्थिति को देखकर डर लग जाता है। मार्ग कई पुलों पर क्षतिग्रस्त हो चुका है। तेज रफ्तार वाहन के उछाल मारकर पलट जाते हैं। महुअर सर्विस रोड और मुढ़हेरा के पास डामर करीब एक फुट तक उभर गई है। जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। राहगीरों ने बताया कि बारिश से हर साल बुरी सड़क मार्ग धस जाता है और बुरी तरह प्रभावित होता है। सड़क किनारे रोड बहुत खोखला हो गया है और कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। किसान उदय वीर निवासी जारुआ कटरा का कहना है कि यहां पर ओवरटेक करने वाले वाहन चालकों को यह दिखाई नहीं देती, जिससे वाहन गड्डे में धस जाते हैं और हादसा हो जाता है।

शहर की सड़कों का भी हाल-बेहाल
आगरा। पहली वर्षा में ही शहर की सड़कों में गहरे गड्ढे हो गए हैं। नगर विकास मंत्री एके शर्मा ने जलभराव से सड़कें टूटने और गड्ढे होने पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे। इसके बाद भी संबंधित विभागों की नींद नहीं टूटी है।
सड़कों पर गहरे गड्ढों के चलते लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन खराब सड़कों की वजह से आए दिन दुर्घटनाएं हो रही है। गंगाजल, सीवर लाइन बिछाने से शहर की सड़कें खोखली हो गई हैं। आवास विकास कॉलोनी में जल निगम ने गंगाजल और सीवर की लाइन डाली है। वर्षा के बाद लोहामंडी मार्ग, आवास विकास कालोनी में गहरे गड्ढे हो गए हैं। कमला नगर सर्विस मार्ग पर मेनहोल टूटा पड़ा है। पृथ्वीनाथ मंदिर मार्ग पर एक महीने से मेनहोल टूटा है। इन अव्यवस्थाओं के लिए जल निगम की प्रदूषण नियंत्रण इकाई, गंगाजल इकाई, नगर निगम का अभियंत्रण विभाग जिम्मेदार है, पर इन विभागों के अधिकारियों के कानों पर जूं नहीं रेंग रही। फतेहाबाद रोड पर एक फीट गहरा गड्ढा हो गया है। पृथ्वीनाथ मंदिर के पास एक फीट गहरा गड्ढा हो गया है। लोह यहां हादसे का शिखार हो रहे हैं। पुरानी चुंगी शाहगंज में जलभराव से सड़क टूट गई है। कमला नगर एक्सटेंशन में गहरे गड्ढे कमला नगर एक्सटेंशन में सीवर लाइन डालने के लिए शालीमार एन्क्लेव और सुभाष नगर चौराहे पर सड़क खोदी गई थी। इसके बाद सड़क नहीं बनाई गई, वर्षा के बाद गहरे गड्ढे हो गए हैं। लोग हादसे का शिकार हो रहे हैं।
कालिंदी विहार 100 फीट रोड पर जगह-जगह गड्ढे हैं। वर्षा के बाद गड्ढों की संख्या और बढ़ जाती है। ये मार्ग बहुत व्यस्त रहता है। भारी वाहन भी गुजरते हैं। गडढों के कारण वाहन खराब हो जाते हैं।
बता दें कि बिना संबंधित विभाग की अनुमति लिए सड़कों की खुदाई नहीं की जा सकती। यदि कोई ऐसा करता है तो उस पर जुर्माने का प्रावधान है। इसके बाद भी अधिकारियों को कोई परवाह नहीं है।

क्षतिग्रस्त हुई सड़कों की मरम्मत के लिए संबंधित विभागों को निर्देश दिए गए हैं। खराब सड़कों की विभागों से सूची मांगी जाएगी। बैठक करके संबंधित विभागों को सड़कों की मरम्मत के लिए निर्देशित किया जाएगा।
– अमित गुप्ता, मंडलायुक्त

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments