Monday, June 24, 2024
HomeUttar PradeshAgraआगरा किले में मिला अंग्रेजों का बनाया हुआ वाटर सिस्टम

आगरा किले में मिला अंग्रेजों का बनाया हुआ वाटर सिस्टम

खाई में सफाई के दौरान मिली प्राचीन नाली।
पुरातत्व विभाग करवा रहा किले का संरक्षण
जमीन में दो फीट नीचे दबी हुई थी यह नाली

आगरा। आगरा किले में संरक्षण कार्य के दौरान अंग्रेजों के जमाने में बना खाई तक पानी पहुंचाने का सिस्टम मिला है। माना जा रहा है कि किले पर कब्जे के दौरान अंग्रेजों ने ही इसे बनवाया था। इस वाटर सिस्टम के जरिए किले की खाई तक पानी पहुंचता था। आगरा किले पर काफी समय तक अंग्रेजों का कब्जा रहा है। उस दौरान यहां पुराने निर्माण को तोड़कर बदलाव किए थे। आज आगरा किला का 70 प्रतिशत हिस्सा बंद है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग यहां समय समय पर संरक्षण के कार्य कराता रहता है ताकि किला सुरक्षित रहे। आगरा किला की खाई में चल रहे संरक्षण कार्य में प्राचीन नाली निकली है। यह मिट्टी में दो फीट नीचे दबी हुई थी। किले के वाटर गेट के पास मिली 10 मीटर लंबी नाली ईंटों और चूने के मसाले की बनी हुई है। इससे आगरा किला के अंदर से पानी खाई तक पहुंचता था। बता दें कि किले के चार दरवाजे हैं। अमर सिंह गेट से पर्यटकों को स्मारक में प्रवेश मिलता है, जबकि दिल्ली गेट सेना के नियंत्रण क्षेत्र में है। हाथी गेट और वाटर गेट भी बंद हैं। इन दिनों भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) द्वारा आगरा किला की खाई में संरक्षण का काम कराया जा रहा है। यमुना किनारा रोड की तरफ बंगाली बुर्ज से लेकर वाटर गेट के नजदीक तक आंतरिक खाई में स्मारक की दीवार के सहारे प्लिंथ प्रोटेक्शन का काम किया जा रहा है। इससे स्मारक की दीवार में वर्षा का पानी जाने से रुकेगा और यहां पेड़-पौधे उगकर स्मारक को क्षति नहीं पहुंचा पाएंगे। गत सायंकाल यहां वाटर गेट के पास जमा मिट्टी को हटाते समय दो फुट नीचे दबी प्राचीन नाली निकल आई। यह किले के अंदर से बाहर की तरफ आ रही है। नाली मीना बाजार, मोती मस्जिद व उसके आसपास बने भवनों का पानी लेकर वाटर गेट के नजदीक तक आ रहे अंडरग्राउंड नाले से जुड़ी है। गेट के आगे नाली ढकी हुई है। यहां मिट्टी हटाए जाने पर ही स्थिति स्पष्ट होगी कि यहां पाइप पड़ा है या फिर नाली को पत्थरों से ढका किया गया है। इस नाली को ब्रिटिश काल में बना हुआ माना जा रहा है। अधीक्षण पुरातत्वविद् डा. राजकुमार पटेल ने बताया कि आगरा किला की खाई में संरक्षण के दौरान मिली प्राचीन नाली को मूल स्वरूप में संरक्षित किया जाएगा। बतादें कि वर्ष 1803 में किला अंग्रेजों के नियंत्रण में आया। उन्होंने यहां बने कई भवनों को बैरकों के निर्माण को तोड़ दिया था। उन्होंने यहां अपने हिसाब से कई निर्माण कराए थे। निर्माण में प्रयुक्त ईंटों व मसाले के आधार पर नाली के ब्रिटिश काल में बनाए जाने की बात एएसआइ अधिकारी कह रहे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments