Thursday, June 13, 2024
HomeUttar PradeshAgraयमुना में फिर से बाढ़ का अंदेशा, मेहताब बाग बंद

यमुना में फिर से बाढ़ का अंदेशा, मेहताब बाग बंद

हथिनी कुंड से छोड़ा पानी आगरा पहुंचना शुरू
फिर लो फ्लड लेवल की तरफ बढ़ने लगी लहरें

आगरा। हथिनी कुंड से यमुना में छोड़ा गया पानी आगरा आना शुरू हो गया है। इसका असर यह है कि यमुना की लहरें फिर से लो फ्लड लेवल की तरफ बढ़ रही है। बाढ़ के अंदेशे को देखते हुए महताब बाग को एक सप्ताह के लिए बंद कर दिया गया है। ताज व्यू प्वाइंट मं प्रवेश भी रोक दिया गया है। हथिनी कुंड बैराज से छोड़े गए पानी के कारण आगरा में यमुना नदी में फिर से बाढ़ की आहट है। सोमवार को यमुना नदी का वाटर वर्क्स पर जलस्तर 494.2 फीट रहा। यह आज सुबह दस बजे तक बढ़कर 294.4 फीट पर पहुंच गया। यमुना का लो फ्लड लेवल 495 फीट है।
बता दें कि बीते सप्ताह हथिनी कुंड से पानी छोड़ने पर यमुना का जलस्तर 499.2 फीट तक जा पहुंचा था। इस वजह से भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने महताब बाग स्मारक को पर्यटकों के लिए बंद कर रखा है, जो इस सप्ताह बंद ही रहेंगे। एएसआई के मुताबिक महताब बाग में अभी पानी सूखा नहीं है। सिल्ट जमा है, जिसे हटाया जा रहा है। पानी दोबारा आया तो बाग में फिर से दिक्कतें होंगी, इसलिए पर्यटकों के लिए फिलहाल एक सप्ताह तक ताज व्यू प्वाइंट और महताब बाग स्मारक बंद ही रहेंगे। ताजमहल के पीछे महताब बाग से सटे आगरा विकास प्राधिकरण का ताज व्यू प्वाइंट भी 18 जुलाई से बंद है। यमुना नदी में पानी बढ़ने पर सबसे पहले ताज व्यू प्वाइंट ही पानी में डूबा था। यहां इंटरलॉकिंग टाइल्स और पत्थर की बेंच पानी में डूब गई थीं, जिस वजह से सिल्ट और गंदगी जमा है। किनारे कटान के कारण भी यह जगह खतरनाक साबित हो सकती है। ताज व्यू प्वाइंट के पास बनी पीएसी की चौकी भी अभी शिफ्ट नहीं की गई है। अधीक्षण पुरातत्वविद डॉ. राजकुमार पटेल ने बताया कि महताब बाग में पानी अभी सूखा नहीं है और सिल्ट भी जमा है। यमुना में पानी और छोड़ा गया है, जिस वजह से फिर से जलस्तर बढ़ने की आशंका है। इसलिए इस सप्ताह महताब बाग पर्यटकों के लिए बंद रहेगा। बाढ़ की स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। एत्मादउद्दौला में प्लेटफार्म तक पानी बना हुआ है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments