Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraसफाई कर्मचारियों की हड़ताल आगरा में सुबह से नहीं उठा कूड़ा, एमएनटी...

सफाई कर्मचारियों की हड़ताल आगरा में सुबह से नहीं उठा कूड़ा, एमएनटी पर पहुंचे प्रदर्शनकारी, पार्षद की गिरफ्तारी की मांग

सफाई नायक के साथ मारपीट के मामले ने तूल पकड़ लिया है। मंगलवार को सफाई कर्मचारियों ने इसके विरोध में हड़ताल शुरू कर दी है। प्रदर्शनकारियों ने चेतावनी दी है कि जब तक आरोपी पार्षद गिरफ्तार नहीं होता है हड़ताल जारी रहेगी।

आगरा। नगर निगम सफाई कर्मचारियों ने मंगलवार सुबह से हड़ताल शुरू कर दी है। कर्मचारियों ने पार्षद पर मारपीट करने के गंभीर आरोप लगाए हैं। इस संबंध में नगर निगम कर्मचारियों ने पार्षद के खिलाफ एफआईआर दर्ज भी कराई है, लेकिन आरोपी पार्षद की गिरफ्तारी ना होने से कर्मचारियों में आक्रोश है। इसके विरोध में सफाई कर्मचारी मंगलवार सुबह एमएनटी कार्यालय पहुंच गए और हड़ताल शुरू कर दी। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जब तक आरोपी पार्षद की गिरफ्तारी नहीं होगी हड़ताल अनवरत जारी रहेगी।

उत्तर प्रदेश नगर निगम सफाई कर्मचारी संघ अध्यक्ष विनोद इलाहाबादी ने बताया कि 5 अगस्त सुबह सफाई नायक विशालदीप के साथ बीजेपी समर्थित वार्ड 86 के पार्षद ऋषभ गुप्ता ने कर्मचारियों की हाजिरी का रजिस्टर छीना जिसका विरोध करने पर उसके साथ मारपीट कर दी। इस मारपीट में विशालदीप के गंभीर चोटें आई हैं उनके घाव पर 7 टांके आए हैं। मारपीट के मामले में थाना हरी पर्वत में मुकदमा दर्ज कराया है। आरोपी पार्षद पर एससी एसटी एक्ट समेत 7 गंभीर धाराओं में केस दर्ज हुआ है। उनका कहना है कि गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज होने पर भी आरोपी पार्षद की गिरफ्तारी पुलिस नहीं कर रही है। कई दिनों से अल्टीमेटम देने के बाद भी पुलिस की शिथिल कार्यवाई और राजनीतिक दबाव के चलते उन्हें हड़ताल करनी पड़ी है। प्रदर्शनकारियों ने चेतावनी दी है कि जब तक पार्षद ऋषभ गुप्ता की गिरफ्तारी नहीं होगी हड़ताल अनिश्चितकालीन के लिए जारी रहेगी।

नहीं उठा शहर से कूड़ा
आगरा नगर निगम क्षेत्र में प्रतिदिन 1 हजार मिट्रिक टन कूड़ा निकलता है। घरों से कूड़ा लेने की जिम्मेदारी स्वच्छता कॉरपोरेशन और लॉयन सर्विसेज की है। डलावघरों और डस्टबिन में से कचरा उठाने का काम नगर निगम का है। इसमें 1 मिट्रिक टन कचरा शहर से कुबेरपुर लैंडफिल साइट नहीं जा पाएगा। मंगलवार सुबह ही सफाई कर्मचारी एमएनटी कार्यशाला पर पहुंच गए और एमएनटी का गेट बंद कर दिया। मानसून में यही कूड़ा शहर में बड़ा होने से सड़ांध पैदा करेगा। इन दिनों स्वच्छता सर्वेक्षण भी चल रहा है जिस वजह से आगरा में रैकिंग भी गिर सकती है।

पार्षद के समर्थन में कमिश्नर को ज्ञापन
पार्षद ऋषभ गुप्ता के समर्थन में सोमवार को एक प्रतिनिधिमंडल ने कमिश्नर से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन दिया है। पार्षदों का कहना है कि नगर निगम सुपरवाइजर द्वारा लगाए गए आरोप झूठे हैं। निरीक्षण में कई जगह सफाई कर्मचारियों की संख्या एक चौथाई भी नहीं मिल रही है। जबकि हाजिरी सभी कर्मचारियों की लगाई जाती है। मौके पर जब निरीक्षण किया तो यह फर्जीवाड़ा उजागर हुआ था। सफाई नायक को पार्षद द्वारा निरीक्षण रास नहीं आ रहा है। इसी वजह से यह झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments