Sunday, June 23, 2024
HomeUttar PradeshAgraसत्संगी विवाद : डूब क्षेत्र से सड़क तो हटाई पर बैठाया...

सत्संगी विवाद : डूब क्षेत्र से सड़क तो हटाई पर बैठाया सख्त पहरा

लाठी-डंडे लेकर सक्रिय, रोक रहे मोक्षधाम जाने का रास्ता
आसपास के गांवों में भारी रोष, बने हुए हैं तनावपूर्ण हालात

आगरा। राधास्वामी सत्संग सभा का कब्जे का विवाद निपटने का नाम नहीं ले रहा। डूब क्षेत्र में एक बार फिर सड़क बना ली गई थी। तहसील प्रशासन ने ड्रोन से निगरानी करके अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को दी थी। इस रिपोर्ट में सत्संगियों के जबरन कब्जा करने और डूब क्षेत्र में सड़क बनाने का जिक्र है। यह बात पता चलने के बाद कि नगेटिव रिपोर्ट तैयार हुई है, रातों-रात सड़क हटवा दी गई। लेकिन मौके पर सोमवार को सुबह कई लोग लाठी-डंडे लेकर सक्रिय दिखाई दिए और वे लोगों का रास्ता रोक रहे थे।
प्रशासन के लचर रवैये से सत्संग सभा ने डूब क्षेत्र में अवैध निर्माण शुरू कर दिया गया था। डूब क्षेत्र में यमुना तक इंटरलॉकिंग से सड़क बना ली गई थी। कोई यहां तक न आ सके, इसके लिए मोक्षधाम के सामने ही बैरियर लगा दिया। इतना ही नहीं सत्संगी लाठी-डंडे लेकर पहरा देते हुए दिखाई दिए।
यमुना के डूब क्षेत्र में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश बेअसर साबित हो रहे हैं। रोक के बावजूद प्रशासन के लचर रवैये से अवैध निर्माण हो गया। पोइया घाट पर डूब क्षेत्र में फिर राधास्वामी सत्संग सभा ने सड़क बनाई। नई कार्रवाई न हो जाए, इस वजह से रात्रि में सत्संगी बैक फुट पर आ गए और सड़क को उखाड़ लिया।
इससे पूर्व रविवार को पोइया घाट पर सुबह से शाम तक सत्संगियों का हुजुम उमड़ता रहा। मोक्षधाम के सामने बैरियर लगा दिए हैं। कार व चार पहिया वाहन घाट तक नहीं जा पा रहे। खासपुर, नगला तल्फी, मनोहरपुर, जगनपुर के ग्रामीणों में रास्ता रोके जाने का खासा रोष है। उनका कहना है कि सत्संगियों ने रास्ते बंद कर दिए हैं।
बता दें कि राधास्वामी सत्संग सभा ने पहले डूब क्षेत्र में हुए अवैध निर्माण को अपना बताने से इनकार किया था। शनिवार को राजस्व टीम जांच के लिए पहुंची। जांच में पता चला कि डूब क्षेत्र में राधास्वामी सत्संग सभा ने अतिक्रमण कर सड़क बनाई है। डीएम को रिपोर्ट भेजी। इसके बाद रात में सड़क उखाड़ ली गई।
जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी का कहना है कि मामला हाईकोर्ट में विचाराधीन है। पोइया घाट पर हुए निर्माण के संबंध में कानूनी पहलुओं को देखा जा रहा है। विधिक कार्रवाई पर विचार हो रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments