Thursday, June 13, 2024
HomeUttar PradeshAgra‘रामहि देखि बरात जुड़ानी। प्रीति कि रीति न जाति बखानी॥ नृप समीप...

‘रामहि देखि बरात जुड़ानी। प्रीति कि रीति न जाति बखानी॥ नृप समीप सोहहिं सुत चारी। जनु धन धरमादिक तनुधारी॥’

राम बरात की रवानगी की तैयारियां पूरी, स्वरूपों का उद्भुत रूप
जनकपुरी भी सज-धजकर प्रभु की आगवानी के लिए हो गई तैयार

आगरा। ‘रामहि देखि बरात जुड़ानी। प्रीति कि रीति न जाति बखानी॥’
अर्थात रामचन्द्रजी को देखकर बारात शीतल हुई (राम के वियोग में सबके हृदय में जो आग जल रही थी, वह शांत हो गई)। प्रीति की रीति का बखान नहीं हो सकता। रामजी की सवारी आज सायंकाल निकल रही है। इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गईं। इधर प्रभु की बरात की आगवानी के लिए जनकपुरी भी सज-धजकर तैयार हो गई।
जन-जन के आराध्य प्रभु श्रीराम की बरात आज निकल रही है। राम बरात 11 अक्तूबर को मिथिला नगरी में प्रवेश करेगी। 11, 12 और 13 अक्तूबर को श्रीराम अपने परिजन के साथ जनकपुरी निवासियों को दर्शन देंगे। इससे तीन दिनों तक संजय प्लेस (जनकपुरी) में वाहनों का प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा। वहीं संभावित भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने यातायात व्यवस्था में बदलाव किया है। पुराने शहर की तरफ वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित किया गया है। आज सायंकाल राम बरात निकाली जाएगी। हरीपर्वत, सूरसदन, पालीवाल पार्क, घटिया आजम खां की तरफ से वाहनों को जनकपुरी की तरफ नहीं आने दिया जाएगा। बारात निकलने का समय सायंकाल छह बजे निर्धारित किया गया है। पुलिस, प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के पर्याप्त इंतजाम किए हैं। राम बारात मार्ग में पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments