Tuesday, June 18, 2024
HomeUttar PradeshAgraदामाद हत्याकांड : कलेक्ट्रेट बार के अध्यक्ष को भेजा पुत्र जेल

दामाद हत्याकांड : कलेक्ट्रेट बार के अध्यक्ष को भेजा पुत्र जेल

मुकदमे में पत्नी-ससुर को भी किया गया है नामजद नामजद
सीसीटीवी की जांच, नौकरानी ने पूछताछ में खोले कई राज

आगरा। बैंक प्रबंधक और कलक्ट्रेट बार ऐसोसिएशन के अध्यक्ष के दामाद की हत्या के मामले में पुलिस ने बार अध्यक्ष के बेटे को जेल भेज दिया। इस मामले में बार अध्यक्ष, उनकी पुत्री समेत अन्य भी नामजद हैं। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गला घोंटने से दामाद की मौत होने का खुलासा हुआ था। ताजगंज स्थित राम रघु एग्जॉटिका कॉलोनी में बैंक प्रबंधक सचिन उपाध्याय की हत्या के मामले में पुलिस ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष बृजेंद्र सिंह रावत के बेटे कृष्णा रावत को जेल भेज दिया। मुकदमे में अध्यक्ष और बेटी भी नामजद है। पुलिस का कहना है कि दोनों सामने नहीं आए हैं। उनसे भी पूछताछ की जाएगी। एसीपी सदर अर्चना सिंह ने बताया कि डॉक्टर के पैनल से सचिन के शव का पोस्टमार्टम कराया गया था। इसमें शरीर पर चोट और गला घोटकर हत्या की पुष्टि हुई थी। इस पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। घटना के समय मृतक की पत्नी प्रियंका मौके पर मौजूद थी। पुलिस को आत्महत्या की जानकारी काफी देर से दी गई थी। कहा जा रहा है कि इस दौरान साक्ष्य मिटाए गए। घटना स्थल पर सुसाइड से संबंधित कोई साक्ष्य नहीं मिला। ना रस्सी मिली ना ही दरवाजा तोड़ा गया था। पुलिस ने प्रकरण की जांच में कॉलोनी के सीसीटीवी फुटेज देखे। इसमें पता चला कि नामजद आरोपी कृष्णा रावत घटना वाली रात को जीजा के घर पर मौजूद था। उसकी लोकेशन भी मिली। सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए। इस पर पूछताछ की गई। मगर, वह सही जवाब नहीं दे सका। इस पर गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। वहीं मृतक की पत्नी प्रियंका, बच्चे और ससुर से पूछताछ की जानी है। वह सामने नहीं आए हैं। पुलिस पड़ताल में लगी हुई है। उधर, कलेक्ट्रेट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष को नामजद करने के पर अधिवक्ताओं में आक्रोश है। शुक्रवार को भी उन्होंने काम नहीं करने का निर्णय लिया था। इस संबंध में बैठक भी की जाएगी। डीसीपी सिटी सूरज राय ने बताया कि सचिन उपाध्याय की हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है। इसमें कलक्ट्रेट बार के अध्यक्ष बृजेंद्र रावत, उनके बेटे कृष्णा रावत और बेटी प्रियंका रावत को नामजद किया गया है। प्रियंका सचिन की पत्नी हैं, जबकि बृजेंद्र ससुर और कृष्णा साला है। पोस्टमार्टम 13 अक्तूबर की दोपहर 1:20 बजे हुआ। इसमें मौत 36 घंटे पहले होने का अनुमान लगाया गया, जबकि सूचना 12 अक्तूबर की शाम 5 बजे दी गई। सूचना इतनी देरी क्यों की गई, पुलिस इस पहलू पर जांच कर रही है। साथ ही, घटना वाले दिन मृतक के घर पर कौन-कौन आया, इसके लिए कालोनी में सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखे जा रहे हैं। एक नामजद आरोपी की लोकेशन कालोनी की आई है, उससे भी पूछताछ की जा रही है। मृतक सहित अन्य लोगों की कॉल डिटेल खंगाली जाएगी। पत्नी, बच्चों के साथ नौकरानी से भी पूछताछ की जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments