Saturday, June 22, 2024
HomeUttar PradeshAgraफर्जी दस्तावेज से बन गया दरोगा, एफआईआर

फर्जी दस्तावेज से बन गया दरोगा, एफआईआर

– पांच साल पहले सिपाही पद पर हुआ था भर्ती
– गुप्त शिकायत पर हुई जांच में खुला पूरा खेल
– उम्र छुपाने के लिए 10वीं व 12वीं दोबारा की

आगरा/लखनऊ। यूपी पुलिस के सिपाही भर्ती के लिए एक युवक ने फर्जीवाड़ा किया। उम्र छिपाने के लिए दोबारा हाईस्कूल-इंटरमीडिएट परीक्षा पास की। उसमें पकड़े न जाने पर तीन साल बाद निकली दरोगा की भर्ती में उन्हीं फर्जी दस्तावेज की मदद से सब-इंस्पेक्टर बन गया। मिजार्पुर स्थित चुनार पुलिस प्रशिक्षण में ट्रेनिंग के दौरान गुप्त शिकायत पर हुई जांच में उसका खेल खुल गया। आगरा के दरोगा देवेंद्र सिंह का भेद खुल गया है। पुलिस भर्ती बोर्ड ने आरोप सही पाने पर हुसैनगंज थाने में उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।
हुसैनगंज में दर्ज एफआईआर में लिखा है कि आगरा निवासी देवेंद्र सिंह यूपी पुलिस-पीएसी सीधी भर्ती-2018 में सिपाही के पद पर चयनित हुआ था। उसको फतेहगढ़ जिले में तैनाती मिली थी।
उसने 2020-21 में दरोगा भर्ती परीक्षा में भाग लिया। चयनित होने पर चुनार पुलिस प्रशिक्षण में ट्रेनिंग पर भेजा गया।
23 मई को आगरा निवासी रंजीत सिंह नाम के एक शख्स ने भर्ती बोर्ड में दरोगा देवेंद्र सिंह के खिलाफ फर्जी शैक्षिक और आयु प्रमाण पत्र लगाकर नौकरी पाने की शिकायत की। जिसके आधार पर जांच की गई। जांच में सामने आया कि देवेंद्र ने पहली बार बोर्ड परीक्षा में जन्मतिथि 30 जुलाई 1995 लिखाई थी। जबकि दूसरी बाद में 15 नवंबर 1996 जन्मतिथि लिखाई।
इससे पहले मध्य प्रदेश पुलिस में भी वो सिपाही पद पर चयनित हो चुका है। जांच में उसके खिलाफ फर्जीवाड़ा के पुख्ता साक्ष्य मिले। थाना पुलिस के मुताबिक तहरीर के आधार पर आरोपी देवेंद्र के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी, कूटरचित दस्तावेज तैयार कर इस्तेमाल करने का मामला दर्ज किया गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments