Monday, June 24, 2024
HomeUttar PradeshAgraमरीज की मौत पर हंगामे में समझौते के प्रयास

मरीज की मौत पर हंगामे में समझौते के प्रयास

परिजन लगा रहे आरोप कि नशे में था डॉक्टर और कर दिया आॅपरेशन
हंगामे के दौरान पुलिस ने किसी तरह संभाली स्थिति, की जा रही मामले की जांच

आगरा। कमला नगर के साईं ट्रॉमा सेंटर में मरीज की मौत के बाद परिवार के लोगों ने जमकर हंगामा किया। आरोप लगाया कि डॉक्टर ने नशे की हालत में आॅपरेशन किया, जिससे मरीज की जान चली गई। एक तरफ जहां पुलिस मामले की जांच कर रही है, वहीं इसमें समझौते के प्रयास भी शुरू हो गए हैं।
आंवलखेड़ा, गढ़ी बाजरा निवासी सतेंद्र (28) कैंटर पर क्लीनर थे। 3 नवंबर को कैंटर से हादसा हो गया। भाई राज बहादुर ने बताया कि सतेंद्र को 4 नवंबर की रात 2:30 बजे कमला नगर स्थित साईं ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया था। डॉक्टर ने आंतों का आपरेशन बताया। आरोप है कि डॉक्टर ने आॅपरेशन के दौरान लापरवाही की। नशे की हालत में थे। शाम को आॅपरेशन के बाद बिना बताएं सतेंद्र को वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया। उसे देखना चाहते थे, लेकिन कर्मचारियों ने मना कर दिया। रविवार सुबह हंगामा करने पर आईसीयू में गए। सतेंद्र मृत था। उसकी रात में ही मौत हो गई थी। मौत के बाद 1.50 लाख का बिल थमा दिया। हंगामे की जानकारी पर पुलिस पहुंची और शांत कराया।
एसीपी हरीपर्वत मयंक तिवारी ने बताया कि परिजन ने डॉक्टर पर नशे की हालत में आॅपरेशन करने और लापरवाही का आरोप लगाया है। उनका कहना था कि रात में मिलने नहीं दिया गया, सुबह मौत की जानकारी दी। जांच की जा रही है। परिजन ने हॉस्पिटल स्टाफ और डॉक्टर पर आरोप लगाते हुए तहरीर दी है।
इस मामले में हॉस्पिटल संचालक पंकज अग्रवाल का कहना है कि मरीज की गंभीर हालत थी। इस बारे में पहले ही बता दिया गया था। परिजन के लापरवाही के आरोप गलत हैं।
—————-

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments