Saturday, June 22, 2024
HomeUttar PradeshAgraरिश्वतखोरी : करोड़पति है आरोपी लेखपाल भीमसेन

रिश्वतखोरी : करोड़पति है आरोपी लेखपाल भीमसेन

आलीशान बंगला, पेट्रोल पंप और तीन डिग्री कॉलेजों का मालिक
20 साल से एक ही तहसील में तैनात, पैरोकारी को जुटे कई ‘बड़े’
15 सालों तक लेखपाल संघ का अध्यक्ष रहा है आरोपी लेखपाल

आगरा। रिश्वतखोरी में फंसे लेखपाल भीमसेन की मुसीबतें बढ़ सकती हैं। आय से अधिक संपत्ति के मामले में जांच हो रही है। बता दें कि आरोपी लेखपाल करोड़पति है। तीन कॉलेज, पेट्रोल पंप और आलीशान बंगला है।
बता दें कि लेखपाल भीमसेन की स्विफ्ट कार से रिश्वत के 10 लाख रुपए बरामद हुए। आरोप है कि खतौनी में नाम बढ़वाने के लिए लेखपाल ने 10 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। इसके बाद लेखपाल की शिकायत पीड़ित ने अधिकारियों से कर दी। अधिकारियों के पहुंचने से पहले लेखपाल अपनी कार छोड़कर भाग गया। अधिकारियों ने कार को पुलिस के हवाले कर दिया। कैमरे की निगरानी में कार खोली गई तो कार से 10 लाख रुपए बरामद हुए।
अब, रिश्वत के आरोप से घिरे लेखपाल के बारे में कई बातें सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि लेखपाल चौधरी भीमसेन के पास करोड़ों की संपत्ति है। 5 करोड़ का आलीशान बंगला, तीन डिग्री कॉलेज, पेट्रोल पंप, शहरों में कई जगहों पर फ्लैट है। इन सभी की कीमत 100 करोड़ आंकी जा रही है। रसूख के चलते वह पिछले 20 साल से ज्यादा समय तक सदर तहसील में तैनात रहा। वह करीब 15 साल तक आगरा लेखपाल संघ का अध्यक्ष रहा है।
बता दें कि बमरौली कटारा निवासी उमेश राणा ने आरोप लगाया था कि लेखपाल चौधरी ने उसके एक परिचित से खतैनी में नाम बढ़वाने के लिए 10 लाख रुपए की रिश्वत ली। उन्होंने बुधवार दोपहर को अपने हाथ से लेखपाल को 5-5 लाख दो बार में दिए। लेखपाल ने रुपए अपनी स्विफ्ट कार में रखे और तहसील आ गए। वह भी लेखपाल के पीछे तहसील आ गया। जहां लेखपाल ने कार खड़ी की थी, वहीं आकर खड़ा हो गया। घेरने की कोशिश की तो लेखपाल कार छोड़कर फरार हो गए। फोरेंसिक टीम ने कैमरे के सामने कार खुलवाई तो 500-500 की गड्डियां मिली। पांच लाख रुपए कार के डैशबोर्ड और 5 लाख कार के पिछले हिस्से से मिले। एंटी करप्शन के अलावा इनकम टैक्स के अधिकारियों तक मामला पहुंच गया है।
आरोपी भीमसेन का रूतबा किसी अधिकारी से कम नहीं है। सत्ता पक्ष के नेताओं से लेकर अधिकारियों तक से उसके संबंध हैं। मामले में फंसते ही कई ‘रसूखदार’ पैरवी में जुट गए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments