Saturday, June 22, 2024
HomeUttar PradeshAgraप्रभु के दर्शन से हुई नूतन वर्ष की शुरुआत

प्रभु के दर्शन से हुई नूतन वर्ष की शुरुआत

शहर भर के मंदिरों में उमड़ा आस्था का सैलाब
प्रमुख सड़कें जाम, पुलिस नदारत दिखाई दी

आगरा। नूतन वर्ष की शुरूआत भगवान के दर्शन से हुई। प्रभु के दर्शन की चाहत में श्रद्धालु सुबह से ही शहर के मंदिरों में उमड़ पड़े। चंहुओर आस्था का सैलाब दिखाई दे रहा था। भीड़ इतनी अधिक थी कि जगह-जगह सड़कों पर जाम के हालात पैदा हो गए। पुलिस नदारद रही।
खाटू श्याम मंदिर, कैलाश महादेव, रावली महादेव, मन:कामेश्वर महादेव, राजेश्वर महादेव आदि प्रमुख मंदिरों पर सुबह से आस्था का सैलाब उमड़ने लगा। मुख्य मंदिरों में सुबह से ही भगवान का आशीर्वाद लेने वालों की भीड़ थी। कैलाश मंदिर पर जाने वाली सड़क पर जाम लग गया। यही स्थिति खाटू श्याम मंदिर की भी रही।
मनकामेश्वर मंदिर पर सुबह से ही श्रद्धालु पहुंचना शुरू हो गए थे। हाथों में पूजा की थाली लिए महिलाएं और पुरुष भोले नाथ का आशीर्वाद ले रहे थे। मंदिर तक जाने वाली गलियां भीड़ से खचाखच भरी हुईं थीं। 10 बजे के बाद जैसे ही बाजार की दुकानें खुलने लगी, वहां जाम की स्थिति बन गई। मंदिर के बाहर पूजा सामग्री की दुकानों पर सुबह से चहल-पहल थी। भोले के दर्शन के लिए लोग दूर-दूर से पहुंचे थे। कैलाश मंदिर पर जाने वाले लोगों की संख्या इतनी ज्यादा थी कि मंदिर के बाहर की सड़क पर जाम लग गया। एक किलोमीटर से ज्यादा लंबे समय जाम में लोग खड़े रहे। मंदिर से बाहर आने वाले और जाने वालों की भीड़ भोलेनाथ के जयकारे भी लगा रही थी। ठंड में दर्शन की आस में लोग घंटों जाम में खड़े रहे। यही स्थिति यमुना किनारा रोड पर खाटू श्याम मंदिर पर रही। वाटर वर्क्स से लेकर फ्रीगंज तक जाम ही जाम लगा हुआ था। जाम से स्थिति बुरी तरह बिगड़ने के बाद पुलिस की नींद टूटी। पुलिस को जाम खुलवाने में काफी वक्त लगा। लंगड़े की चौकी मंदिर पर भी सुबह से ही श्रद्धालु बजरंग बली का आशीर्वाद लेने पहुंचे।
गुरुद्वारा गुरु का ताल, गुरुद्वारा माईथान व अन्य गुरुद्वारों में सुबह से ही संगत मत्था टेकने पहुंचने लगी। गुरुद्वारों में नए साल पर कीर्तन दरबार भी सजाए गए हैं। गुरुद्वारा गुरु का बाग, मधुनगर पर कीर्तन दरबार में गुरवाणी का गायन हुआ। लंगर बरताया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments